कोलेजन के फायदे और श्रोत (Collagen Ke Benefit )

 दोस्तों आज मैं आपको एक बेहतरीन चीज के बारे में बताने जा रहा हूं कोलेजन शरीर में सबसे अधिक मात्रा में पाए जाने वाला प्रोटीन है यह हड्डी ,त्वचा ,मांसपेशी ,टेंडन इत्यादि को मजबूती प्रदान करता है।  ( टेंडन, हड्डियों और मांसपेशियों को जोड़ने वाला तत्व है  )

कोलेजन शरीर की बनावट और ताकत के लिए महत्वपूर्ण होता है जिस तरह कुछ प्रोटीन का निर्माण शरीर के अंदर ही होता है ठीक उसी और कुछ प्रोटीन का बाहर से भोजन के रूप में लेने की आवश्यकता पड़ती है।  

ठीक उसी तरह कोलेजन के भी दो प्रकार हैं एक  शरीर के अंदर( एंडोजीनस कोलेजन )जो प्राकृतिक रूप में होता है जिसका निर्माण शरीर खुद ही करता है एंडोजीनस कॉलेजन के कई कार्य होते हैं जो की बहुत महत्वपूर्ण हैं शरीर में एक दूसरा कोलेजन (एक्सोजेनस कॉलेजन) भी होता है जो हमें बाहरी कारकों से मिलता है जैसे दवाइयों आदि इसको चिकित्सा और कॉस्मेटिक सौंदर्य साधन उद्देश्यों के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है उत्तक को स्वस्थ रखने के लिए भी एक्सोजेनस कोलेजन का उपयोग होता है। 

कॉलेजन क्या है इसके काम क्या है ? - Collagen Kya Hai Iske Work Kya Hain

fibrils 

कॉलेजन एक ठोस, अघुलनशील और रेशेदार प्रोटीन है। शरीर में जितना प्रोटीन होता है ,उसका एक तिहाई हिस्सा होता है। अधिकांश कॉलेजन के समूह एक दूसरे के साथ मिलकर लंबे और पतले रेसे बनाते हैं, जिन्हें फैब्रिल fibril कहा जाता है।  यह fibril एक साथ बंधे होते हैं। जिससे यह एक दूसरे को मजबूती प्रदान करते हैं। और इन्हीं से त्वचा को ताकत और लचीलापन मिलता है। वैसे तो विभिन्न प्रकार के कॉलेजन  होते हैं लेकिन  शरीर में 80 से 90% कोलेजन की मात्रा सिर्फ तीन प्रकार के कोलेजन की ही होती है।  इन तीन प्रकार के कोलेजन के नाम है। collagen type 1 , collagen type 2,  collagen types 3 

इन विभिन्न प्रकार के कोलेजन की अलग-अलग बनावट और कार्य होते हैं शरीर के अंदर मौजूद कोलेजन मजबूत और लचीले होते हैं टाइप वन प्रकार के कोलेजन के रेसे  विशेष रूप से लचीला और मजबूत होता है। अगर स्टील और टाइप वन कोलेजन  की तुलना करें तो ये रेसे स्टील से भी अधिक मजबूत होते हैं। 

कोलेजन के कार्य क्या है ? - Collagen Ke Work Kya Hain 

कोलेजन कई कोशिकाओं से निकलता है, लेकिन मुख्य रूप से कनेक्टिव टिशु (संयोजी उत्तक ) की कोशिकाओं से स्रावित होता है।त्वचा के अंदर की मध्यम परत जिसे "डर्मिस "कहते हैं में कोलेजन रेशों की मदद से कोशिकाओं का एक रेशेदार जाल सा बनाता है , जिसको "फाइब्रोब्लास्ट" नाम से जाना जाता है।यह त्वचा की मृत कोशिकाएं को हटाने व नई कोशिकाओं को बनाने का कार्य करता है। 

इसके अलावा कुछ कोलेजन किडनी जैसे नाज़ुक अंगों को बचाने के लिए भी सुरक्षा कवच की तरह काम करता है। आयु बढ़ने  के साथ शरीर में कॉलेजन की कमी होने लगती है। जिससे त्वचा संबंधी परेशानियां शुरू हो जाती है।  उदाहरण के तौर पर चेहरे पर झुर्रियां आने लग जाती है, महिलाओं में खासतौर से मेनोपॉज के बाद तेजी से कोलेजन की कमी होने लगती है।60 की उम्र के बाद तो कोलेजन बनने में भारी गिरावट आना एक सामान्य सी बात है ।

कोलेजन के फायदे - Collagen Ke Fayde 

कॉलेजन के फायदे स्किन के लिए सबसे महत्वपूर्ण फायदा जो है कि वह त्वचा को चमकदार और स्वस्थ बनाने के लिए उपयोगी होता है। यह आवश्यक प्रोटीन आपकी त्वचा को लचीलापन प्रदान करता है।  जिससे आप जवान और स्वस्थ दिखाई देते हैं लेकिन जैसे ही आप की उम्र बढ़ती जाती है कॉलेजन का स्तर कम होना शुरू हो जाता है जिसके बाद आपकी त्वचा में रूखापन ,ढीलापन और झुर्रियां आने लगती है। 

वर्ष 2014 में एक अध्ययन किया गया।  जिसमें 35 से 55 आयु की 70 महिलाओं को शामिल किया गया इनमें से 45  महिलाओं को कॉलेजन पूरक सप्लीमेंट दिया गया। जबकि बाकी महिलाओं को प्लेसिबो एक निष्क्रिय गोली दिया गया। 4 सप्ताह बाद कोलेजन लेने वाले महिलाओं की त्वचा में लचीलापन और सुधार देखा गया। इसी तरह की अन्य अधययन में भी कोलेजन की मदद से 8 सप्ताह के अंदर महिलाओं किं झुरिया कम होते पाया गया ।

कोलेजन के लाभ  बालों तथा नाख़ून के लिए। 

कोलेजन बालों और नाख़ून के बढ़ने और दोबारा आने में काफी मदद करता है।  और यह बालों को मजबूती भी प्रदान करता हूं इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं।  जो शरीर में free redicals (फ्री रेडिकल्स ) जो कि शरीर में मौजूद हानिकारक तत्व है के उत्पादन को कम करते हैं शरीर में बनने वाले फ्री रेडिकल विभिन्न Metabolism प्रक्रियाओं की वजह से बनते हैं और यह बालों के रोम को नुकसान पहुंचाते हैं।यही बालों के झड़ने का कारण भी बनते हैं। लेकिन बालों में पर्याप्त मात्रा में कोलेजन होने से मजबूती मिलती है। तथा नाख़ून भी मजबूत होते हैं।  और आपके बाल घने होने के साथ साथ मजबूत और स्वस्थ भी होते हैं। 

Cartilage ,Tendon ,Lingament 

कॉलेजन के कई फायदे में से एक यह जोड़ों के दर्द, (Joint Pain ) के लिए भी बेहतर होता है उम्र बढ़ने के साथ ही हड्डियों के जोड़ों पर मौजूद (Cartilage : हड्डियों को जोड़ने वाले मजबूती और लचीले उत्तक होते हैं ) कम होने लगते हैं जिससे आपको जोड़ों में दर्द और अकड़न महसूस होने लगता है कोलेजन से जोड़ों में दर्द और गठिया के लक्षण को कम करने में मदद मिलती है। collagen आपके मांसपेशियों को मजबूती प्रदान करने में बहुत बेहतर होता है।  इस कारण मांसपेशियों के निर्माण में यह महत्वपूर्ण और प्रभावशाली होता है। इसके साथ ही कोलेजन Exercise करने के समय आप को energy  प्रदान करता है।



कोलेजन  के स्रोत - collagen ke sources 

आप अपने आहार में कुछ खाद्य पदार्थ को शामिल करके कोलेजन के स्तर को बढ़ा सकते हैं जो निम्न्लिखित हैं। 

खट्टे फल - विटामिन सी जो कि खट्टे फलों में पाया जाता है। आपके शरीर में इससे कई प्रकार के लाभ होते हैं साथ ही यह कोलेजन को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करती है विटामिन c  फ्री रेडिकल्स को भी कम करने में मदद करती है विटामिन सी एक प्रकार का एंटी ऑक्सीडेंट होता है जो कोलेजन के synthesis को बढ़ाता है आपको अपने आहार में विटामिन सी युक्त फलों को शामिल करना चाहिए। जैसे : नींबू ,संतरा ,संतरे के जूस इत्यादि। 

मछली - मछली में अधिक मात्रा में ओमेगा 3 फैटी एसिड मौजूद होता है जो आपकी कोशिकाओं के फंक्शन के लिए जरूरी होता है स्वस्थ कोशिकाएं आपकी त्वचा की बनावट के लिए बेहद महत्वपूर्ण है

हरी सब्जियां- ब्रोकली और पालक जैसी सब्जियां कोलेजन के स्तर को बढ़ाने में सहायक होते हैं यह धुल ,धुआं और सिगरेट के धुए और सूर्य प्रकाश के संपर्क में आने से होने वाले कोलेजन की छति को रोकने में मदद करती है

4 लाल रंग की सब्जी -  लाल रंग की सब्जियों में लाइकोपीन होता है जो कि एक एंटी ऑक्सीडेंट है। जो कोलेजन को बढ़ने में मदद करता है  चुकंदर, मिर्ची ,टमाटर से आप इस एंटीऑक्सीडेंट को प्राप्त कर सकते हैं लाइकोपीन ना सिर्फ कॉलेजन को बढ़ाने का काम करता है, बल्कि सूर्य के किरणों से त्वचा को सुरक्षा प्रदान करती है इसके अलाव शकरकंद, गाजर जैसी सब्जियां लिए आपके शरीर को बहुत फायदा पहुंचाती है

लहसुन और जैतून - सदियों से लहसुन और जैतून का प्रयोग मानव द्वारा किया जा रहा है। लहसुन और जैतून में सल्फर होता है जिसका उपयोग त्वचा रोग और बालों में रुसी के लिए किया जाता है। लहसुन के अलावा हरे और काले जैतून में भी  सल्फर अधिक मात्रा में मौजूद होता है। जो जोड़ों और त्वचा में कोलेजन को बढ़ाने में अहम माना जाता है ।

6 अनानास - अनानास और उसका जूस शरीर में कॉलेजन को संश्लेषित करने में मदद करता है। अनानास खाने से त्वचा चमकदार बनती है






No comments

Powered by Blogger.